Aaj ka Suvichar in Hindi

Sudhir Sirohi
0
जब आप अपने दिन की शुरुआत एक अच्छे सुविचार के साथ करते है तो उसका असर आपके जीवन में भी देखने को मिलता है, हम विभिन्न पोर्टल से, सोशल नेटवर्क साईट से  50 अनमोल विचारों की एक श्रंखला आपके लिए ढूंड कर लाये है जो आपको सही मार्ग पर ले जाने के लिए प्रेरित करेंगे, साथ ही आप इन सुविचारो को अपने सगे संबंधियों को भी शेयर कर सकते है |
 
Aaj ka Suvichar in Hindi

"जिंदगी में हम कितने सही और कितने गलत है, यह सिर्फ दो ही शख्स जानते हैं, ईश्वर और अपनी अंतरात्मा लेकिन हैरानी की बात है कि दोनो ही नजर नहीं आते।"

"अहँकारी व्यक्ति कभी क्षमा नही माँग सकता, कमजोर व्यक्ति कभी क्षमा नहीं कर सकता, क्षमा माँगना नम्र व्यक्ति का गुण है, और क्षमा करना शक्तिशाली व्यक्ति का गुण है. आने वाले कल पर संदेह कैसा क्योंकि उसके रचियता तो हम स्वयं ही तो है"

"इंसान एक शब्द बोलकर निकल जाता है लेकिन सामने वाले को उससे निकलने में सालों लग जाते हैं।"

"अहंकार और गलतफहमी हमको अपनों से दूर कर देते हैं, क्योंकि अहंकार सच सुनने नहीं देता, और गलतफहमी सच देखने नहीं देती।"

"मनुष्य इतना कमजोर है कि स्वप्न में भी डर जाता है और बहादुर इतना होता है कि गलत काम करते समय ईश्वर से भी नहीं डरता !"

"अगर किसी परिस्थिति के लिए, आपके पास सही शब्द नहीं है तो सिर्फ मुस्कुरा दीजिये, शब्द उलझा सकते हैं पर मुस्कुराहट हमेशा काम कर जाती है!"

"कुछ गैर ऐसे मिले" जो अपना बना गए, कुछ अपने ऐसे निकले,जो गैरों का मतलब बता गए। दोनों का ही शुक्रिया, जो ज़िन्दगी के तजुर्बे बढ़ा गए!"

"किसी को चोट पहुँचान उतना ही आसान है जैसे पेड़ से पत्ता तोड़ना, लेकिन किसी को खुश करना एक पेड़ उगाने जैसा है। इसमें बहुत समय, देखभाल और धैर्य लगता है!"

"तनाव से केवल समस्याएं जन्म ले सकती है, समाधान खोजने है तो मुस्कुराना ही पड़ेगा!"

"जीवन में विचार और व्यवहार का बड़ा ही महत्व है, एक विचार व्यवहार बदल देता है और एक व्यवहार विचार बदल देता है!"

"अभिमान, फरिश्तो को भी शैतान बना देती है और नम्रता साधारण व्यक्ति को भी फ़रिश्ता बना देती है!"

"मुस्कान'' थके हुए के लिए विश्राम है उदास के लिए दिन का प्रकाश है, और कष्ट के लिए प्रकृति का सर्वोत्तम उपहार है!"

"अतीत की यादों में जीना, दूसरों से ज्यादा उम्मीद रखना, आवश्यकता से अधिक सोचना,और खुद को किसी से कम समझना, यह चारों ही दुःख का कारण बनते हैं!"

"नकारात्मकता एक विष की तरह होती है, जो धीरे धीरे आप के व्यक्तित्व को खत्म कर देती है, इसलिए हर परिस्थिति में सकारात्मक रहने का प्रयास करें!"

"समझदारी की बातें, सिर्फ़ दो ही लोग करते हैं, एक वो जिसकी उम्र अधिक हो और एक वो जिसने बहुत कम उम्र में, बुरा वक़्त देखा हो!"

"अपनी अहमियत को उन आंखों में देखिए, जो आप को पाने की खुशी से ज्यादा आपको खोने से डरती हैं!"

"जीवन की सारी दौड़ केवल अतिरिक्त के लिए हैं, अतिरिक्त पैसा, अतिरिक्त पहचान, अतिरिक्त शोहरत, अतिरिक्त प्रतिष्ठा! यदि यह अतिरिक्त पाने की लालसा ना हो तो जीवन एकदम सरल है!!"

"जब चलना नही आता था तो कोई गिरने नहीं देता था, और जब चलना सीख लिया तो हर कोई गिराने में लगा है। यही "जीवन" की सच्चाई है!"

"विनम्रता और दूसरे का आदर करने का गुण समाज में आपका कद ऊंचा कर देते हैं, उन्हें सदैव अपने साथ बनाएं रखें !"

"अच्छे विचारों का असर आजकल इसलिए नहीं होता, क्योंकि लिखने और पढ़ने वाले दोनो यह समझते हैं कि यह उपदेश दूसरों के लिए है!"

"हर कोई चंदन पेड़ की तरह तो नहीं हो सकता, जो जीवन को सुगंधित कर सके, लेकिन कुछ नीम के पेड़ के जैसे हैं जो चंदन की तरह सुगंधित तो नहीं है परंतु जीवनोपयोगी बहुत है!"

"गन्ने में जहाँ गाँठ होती है वहाँ रस नही होता ! और जहाँ रस होता है वहा गांठ नही होती..!! बस जीवन भी कुछ ऐसा ही है!"

"शिकायत छोड़िए शुक्रिया अदा कीजिए आपके पास जितना है, न जाने कितनों के पास उतना भी नहीं है!"

"जिसने अपनों को बदलते देखा है, वो ज़िन्दगी में हर परिस्थिति का सामना कर सकता है!"

"प्रत्येक लिखी हुई बात को प्रत्येक पढ़ने वाला नहीं समझ सकता क्योंकि, लिखने वाला भावनाएं लिखता है और पढ़ने बाला केवल शब्द पढ़ता है!"

"मिले हुए समय को ही अच्छा बनाए, अगर अच्छे समय की राह देखोगे, तो पूरा जीवन कम पड़ जायेगा!"

"दिल के अच्छे होने से बेहतर है आप जुबान के अच्छे बनो, क्योंकि लोगों का वास्ता, पहले जुबान से पडता है, दिल तक तो कुछ खास लोग ही पहुंच पाते है!"

"जीभ और शब्द तो सबके पास होते हैं। मगर जो अपने लिए जीते है, वो कह लेते हैं, और जो अपनों के लिए जीते है, वो सह लेते हैं!"

"भाषा एक ऐसा वस्त्र है जिसको यदि, आपने "शालीनता" से नहीं पहना तो आपका "संपूर्ण व्यक्तित्व" ही "निर्वस्त्र" हो जाता है!"

"ये व्यक्तित्व की गरिमा है, कि फूल कुछ नहीं कहते, वरना कभी कांटों को मसलकर दिखाईये *मौन किसी की कमज़ोरी नहीं, उसका बडप्पन होता है!"

"ज़िन्दगी में थोड़ी सी दोस्ती, भोले-भाले लोगों के साथ भी करें! क्योंकि जरूरत पड़ने पर, *होशियार लोग व्यस्त ही रहते हैं!"

"समय, विश्वास और सम्मान, ये ऐसे पक्षी हैं जो एक बार उड़ जाएँ तो फिर वापस नहीं आते है!"

"सभी को सुकून की तलाश है, पर मजे की बात यह है कि जो नहीं तलाश करता वही सबसे ज्यादा सुकून में है!"

"कोई सराहना करे या निंदा, इसमें लाभ हमारा ही है क्योंकि प्रशंसा हमे प्रेरणा देती है और निंदा सावधान होने का अवसर!"

"इच्छाओं का भी अपना चरित्र होता है खुद के मन की हो तो, बहुत अच्छी लगती हैं, दूसरों के मन की हो तो बहुत खटकती है!"

"उम्मीद एक उपहार है बोझ नही, जब लोग आपसे कुछ "उम्मीद" करते हैं, तो इसका मतलब है कि लोग आप पर "अटूट विश्वास" करते हैं!"

"एक सही निर्णय आपके आत्मविश्वास को, और एक गलत निर्णय आपके अनुभव को दुगुना कर देता है। इसलिए दोनो ही स्थितियों में घबराने की ज़रूरत नहीं है,प्रयास जारी रखें!"

"हृदय में शंका, व्यवहार में गुरुर, बुद्धि में जिद, और बातों में ईर्ष्या, आ जाए तो समझ लीजिए "रिश्ते" की पराजय निश्चित है!"

"केवल वर्तमान से सुख लेने का प्रयास करिये, भविष्य बहुत कपटी होता है, वो केवल आश्वासन देता है गारंटी नही!"

"प्रयास ना छोड़ो, अगर आप सफल हुए तो दुनिया आपको जान जाएगी और अगर असफल हुए तो आप दुनिया को जान जाएंगे!"

"प्रार्थना और विश्वास दोनों अदृश्य हैं, परंतु दोनों में इतनी ताकत है कि नामुमकिन को मुमकिन बना देते हैं!"

"रिश्तो की पहली शर्त सम्मान है जो आपका सम्मान नही कर सकते, वो रिश्ता नही निभा सकते!"

"रिश्तों का स्वाद हर रोज बदलता रहता है मीठा, नमकीन या खारा बस ये इस बात पर निर्भर करता है कि हम प्रतिदिन अपने रिश्ते में मिला क्या रहे हैं!"

"जिस समय से हमारा मन दूसरों के लिए शुभ सोचना प्रारंभ कर देता है, शांति उसी समय से हमारे जीवन में प्रविष्ट हो जाती है!"

"क्रोध आने पर, चिल्लाने के लिऐ, कोई ताकत नहीं चाहिए। मगर क्रोध आने पर, चुप रहने के लिए, बहुत ताकत चाहिए!"

"हमारी समझ कहती है कि बहुत कुछ इकठ्ठा करने से ख़ुशी मिलती है मगर अनुभव कहता है कि बहुत कुछ त्यागने से ख़ुशी मिलती है!"

"मजबूत किरदार के लोग हालात और हाल के बजाय हल को तवज्जो देते हैं!"

"यदि आपको ऊँची उड़ान भरना है तो वह सब कुछ छोड़ दें जो आपको नीचे खींचता है!"

"न किसी से ईष्या रखें न किसी से कोई होड़, आपका अपना संघर्ष है आपकी अपनी दौड़!"

"दुनिया में विपत्ति से बढ़ कर अनुभव सिखाने वाला एक भी विद्यालय आज तक नहीं खुला!"

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)